Search
  • Urooj

विविधता में एकता



विविधता में एकता


Vividhta mein Ekta



Kaun kehta hai bharat ek sampurn prabhutva sampatra samajwaadi dharmnirpeksha gannrajya hai

Phir bhi ladte hai log hindu-muslim ke naam par

Yeh niyam samvidhan ki kitaab mein toh diye hai

Neeji zindagi mein toh rajneeti dal kuch aur hi hai

Aaj bhi karte hai log dange mandir-masjid ke naam par

Khun bahaate hai maasumo ke zara se vivaad par

Samvidhan mein toh hai hazaaro niyam par sach kaho

Kitna istemaal hota hai kanoon ki vyavastha par

Bhul kar har vivaad aao phir se ek desh banate hai

Bhaichaare ka sandesh saare jag mein phelaate hai

Chah kar bhi koi todh na paaye hamare bandhutva ko

Mazhab ko bhul kar insaaniyat nibhaate hai

Ek dusre ki vividhta swikaarte hai

Aao phir se Hindustan ko ek banaate hai


कौन कहता है भारत एक सम्पूर्ण प्रभुत्व सम्पत्र समाजवादी धर्मनिरपेक्ष गणराज्य है

फिर भी लड़ते है लोग हिन्दू-मुस्लिम के नाम पर

यह नियम संविधान की किताब में तो दिए है

निजी ज़िन्दगी में तो राजनीती दल कुछ और ही है

आज भी करते है लोग दंगे मंदिर-मस्जिद के नाम पर

खून बहाते है मासूमों के ज़रा से विवाद पर

संविधान में तोह है हज़ारो नियम पर सच कहो

कितना इस्तेमाल होता है कानून की व्यवस्था पर

भूल कर हर विवाद आओ फिर से एक देश बनाते है

भाईचारे का सन्देश सारे जग में फैलाते है

चाह कर भी कोई तोड़ न पाए हमारे बन्धुत्व को

मज़हब को भूल कर इंसानियत निभाते है

एक दूसरे की विविधता स्वीकारते है

आओ फिर से हिंदुस्तान को एक बनाते है



Asma Shaikh


Introduction

मैं आसमा शैक्ख मास्टर आईटी की स्टूडेंट हूं| मैं पढ़ाई के साथ-साथ कविता भी लिखती हूं| मेरी कविता में लोगों की भावना और दर्द नजर आता है|

0 views